hindiaapkeghar

SBI Bank ने की ब्याज दर में 0.1% की वृद्धि | कर्ज लेने वालों के लिए अब होगी EMI में वृद्धि

SBI Bank ने की ब्याज दर में 0.1% की वृद्धि | कर्ज लेने वालों के लिए अब होगी EMI में वृद्धि , साथ ही इन तीन बैंको ने भी की है MCLR की दर में वृद्धि। देश में RBI में बैंक के बाद किसी बैंक का नाम आता है तो वह है एसबीआई बैंक इन दिनों एसबीआई बैंक ने अपनी  मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लैंडिंग रेट (एमसीएलआर) में 10 आधार अंक (बीपीएस) यानी 0.1 प्रतिशत की बढ़ोतरी की है। जिस से आने वाले दिनों में लोन लेने वालो के ऊपर EMI  में वृद्धि होगी. इसके साथ ही आने वाले दिनों में दूसरे बैंकों द्वारा भी उधारी दर में संशोधन किये जाने की संभावना है।

SBI Bank ने की ब्याज दर में 0.1% की वृद्धि

एसबीआइ के इस फैसले के बाद जिन लोगों ने एमसीएलआर पर कर्ज लिया है, उनकी इएमआइ बढ़ जायेगी. हालांकि, जिन लोगों ने अन्य मानकों के आधार पर ऋण लिया है, उनकी इएमआइ पर प्रभाव नहीं पड़ेगा. एसबीआइ की इबीएलआर (वाह्य मानक आधारित उधारी दर) 6.65 प्रतिशत है, जबकि रेपो से जुड़ी उधारी दर (आरएलएलआर) 6.25 प्रतिशत है. ये दर एक अप्रैल से प्रभावी किया गया  है। आवास और ऑटो ऋण सहित किसी भी प्रकार का ऋण देते समय बैंक ईबीएलआर और आरएलएलआर पर ऋण जोखिम प्रीमियम (सीआरपी) को जोड़ते हैं। एसबीआइ की वेबसाइट के अनुसार संशोधित एमसीएलआर दर 15 अप्रैल से प्रभावी है।

एक साल की MCLR दर 7.10 प्रतिशत हुई है ।

इस संशोधन के साथ एक वर्षीय एमसीएलआर सात प्रतिशत से बढ़कर 7.10% हो गया है . ओवरनाइट, एक महीने और तीन महीने की एमसीएलआर 10 बीपीएस बढ़कर 6.75% हो गयी, जबकि छह महीने की एमसीएलआर बढ़कर 7.05% हो गयी. ज्यादातर कर्ज एक साल की एमसीएलआर दर से जुड़े होते हैं. इसी तरह दो साल की एमसीएलआर 0.1% बढ़कर 7.30% और तीन साल की एमसीएलआर 0.1% बढ़कर 7.40% हो गयी.

इन्हे भी पढ़े 

इन तीन बैंकों ने भी बढ़ाया है MCLR  की दर

  • बैंक ऑफ बड़ौदा ने एमसीएलआर के तहत ब्याज दर में 0.05 प्रतिशत बढ़ा कर 7.35 प्रतिशत कर दिया है,
  • निजी क्षेत्र के एक्सिस बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक ने भी एक साल की अवधि के लिए एमसीएलआर को बढ़ा कर 7.40 प्रतिशत कर दिया है, जो क्रमश: 18 अप्रैल और 16 अप्रैल से प्रभावी है।
Share the post

Leave a Comment